No Picture
लेखनी/Lekhni

पर्यटन पर हुआ अंतरराष्ट्रीय सम्मेलन

March 28, 2017 0

हिन्दी विभाग, मणिबेन नानावटी महिला महाविद्यालय, मुम्बई एवं भारतीय सामाजिक विज्ञान अनुसंधान परिषद,दिल्ली द्वारा १६ और १७ मार्च २०१७ को एक अन्तर्राष्ट्रीय सम्मेलन का आयोजन हुआ। सम्मेलन का विषय था- पर्यटन: सामाजिक और सांस्कृतिक परिप्रेक्ष्य। […]

No Picture
लेखनी/Lekhni

असाधरण चुनाव के असाधरण नतीजेः डा. नीलम महेन्द्र

March 22, 2017 1

“हमारा अतीत हमारे वर्तमान पर हावी होकर हमारे भविष्य पर प्रश्न चिह्न लगा देता है ” , एक कटु सत्य । ‘ सबका साथ,सबका विकास ‘ क्या संभव हो पाएगा जब यूपी में होगा योगी […]

No Picture
लेखनी/Lekhni

स्त्री साहित्य पर एकदिवसीय अंतरराष्ट्रीय संगोष्ठी संपन्न

March 20, 2017 0

साठ्ये महाविद्यालय, विले पार्ले, मुंबई के तत्वावधान में ‘स्त्री साहित्य’ विषय पर एकदिवसीय अंतरराष्ट्रीय संगोष्ठी आयोजित की गई। संगोष्ठी का उद्घाटन जे. एस. विश्वविद्यालय, उत्तर प्रदेश के कुलपति डॉ. हरिमोहन ने किया। बीज वक्तव्य प्रख्यात […]

No Picture
लेखनी/Lekhni

होली के विविध रंगः शैल अग्रवाल

March 12, 2017 0

रक्षाबन्धन की अवधारणा यदि विप्र और सुकुमार वर्ण के संरक्षण हेतु  कभी की गई होगी, तो दशहरा शौर्य प्रदर्शन यानी क्षत्रियों  के लिए रचा गया था। दीपावली व्यापारियों की संतुष्टि के लिए थी तो होली आम जनता यानी शूद्रों का  […]

No Picture
लेखनी/Lekhni

8 मार्च नारी दिवस परः नीलम महेन्द्र

March 8, 2017 0

महिलाओं ने स्वयं अपनी ‘आत्मनिर्भरता ‘ के अर्थ को केवल कुछ भी पहनने से लेकर देर रात तक कहीं भी कभी भी कैसे भी घूमने फिरने की आजादी तक सीमित कर दिया है। काश कि […]