लेखनी/Lekhni-नवंबर-दिसंबर 2021

सोच और संस्कारों की सांझी धरोहर
Bridging The Gap

‘This race to power
search for comfort
for Me and me only
Because…..
Me and mine is the best
We have not found yet
Another planet like earth
Still in a frantic search
We fight and loot each other.’
Shail Agrawal

अपनी बातः इस धरती की जिम्मेदारी कौन लेगा!

(अँक 138-वर्ष 15)

इस अंक की कविता- कविता धरोहरः जयशंकर प्रसाद। शरद गीतः लेखनी संकलन। माह की कवियत्रीः जोशना बैनर्जी अडवानी। कविता आज और अभीः नवंबर-दिसंबर 2021। गीत और ग़ज़लः राकेश जोशी। यह सर्द मौसमः लेखनी संकलन।
गद्य में- कहानी समकालीनः हमला-सुशांत सुप्रिय। कहानी समकालीनः धमकीः संजीव शर्मा। कहानी समकालीनः बेकार मंडली-रतन चंद रत्नेश। कहानी समकालीनः बेटे का फर्जः धर्मेश मूलवानी। विमर्षः प्रेमचन्द की सामाजिक चिन्ताएँ-शैलेन्द्र चौहान। पर्यटनः रोम एक अजब कथा-संतोष बंसल। मंथनः मैं भी कुछ लिखूँ-देवी नागरानी। पढ़ते-पढ़तेः अग्निपाखी-डॉ. वंशीधर तातेड़। चांद परियाँ और तितलीः बाल कहानी-चकमक लाल पत्थर-शैल अग्रवाल।
In the English Section: My Column: Another year of difficult Drcisions. Talk About: A Conference On ‘Climate Crisis’-Shail Agrawal. Story Classic: The Magic Shop- H.G. Wells. Story Contemporary: Canine Eggs-Sushant Supriye. Story Children: Magic Of Christamas-Shail Agrawal.

ब्रिटेन से प्रकाशित द्विमासीय, द्विभाषीय (हिन्दी-अंग्रेजी) पत्रिका
परिकल्पना, संपादन व संचालनः शैल अग्रवाल
संपर्क सूत्रः shailagrawal@hotmail.com

सर्वाधिकार सुरक्षित (Copyrights reserved)
copyright @ www.lekhni.net

error: Content is protected !!