लेखनी/Lekhni विशेष-भव्य भारती-3

सोच और संस्कारों की सांझी धरोहर
Bridging The Gap

भव्य भारती (3)

‘प्राण वायु हैं इसकी बातें
गंगा जमुना इसकी यादें
दूर होकर भी संग सदा
नमन तुझे ऐ मेरे देश…’
शैल अग्रवाल

जुलाई-अगस्त 2022
अंक 143 वर्ष (16)

अपनी बातः नमन मेरे देश
इस अंक मेंः कवितायें- वन्दे मातरम्_लेखनी संकलन-अल्लामा मोहम्मद इकबाल, श्यामलाल पार्षद, भगवती चरण वर्मा, जयशंकर प्रसाद, रामचन्द्र द्विवेदी प्रदीप, गोपालदास नीरज, रामधारी सिंह दिनकर, शिव मंगल सिंह सुमन, गोपाल सिंह नेपाली।
जयति भारतीः मंगल आव्हान, जय बोल- रामधारी सिंह दिनकर, भव्य भारती-शैल अग्रवाल, वतन हमारा, जी चाहता है-राम निवाश इंडिया। कविता आज और अभीः मोर्चे पर-शबनम शर्मा, अरुणा घवाना, इन्दु जैन, भाऊसाहेब नवलनाथ नवाले, स्वप्निल श्रीवास्तव, शील निगम, शैल अग्रवाल, नलिन चौहान, कौशल किशोर श्रीवास्तव, सुरेन्द्र कुमार अरोड़ा, शैल अग्रवाल।
प्यारा भारतः लेखनी संकलन- रचना श्रीवास्तव, राजेश चेतन, रामदरश मिश्र, बृह्मजीत गौतम, आदिल रशीद, महेन्द्र भटनागर, पद्मा मिक्श्रा (4), दिनेश गुप्ता (2), कवि कुलवंत सिंह, असोक आंद्रे, राजेन्द्र अवस्थी, नीरजा द्विवेदी(2), महेश चन्द्र द्विवेदी(2), शैल अग्रवाल ( 4), अटल बिहारी बाजपेयी।
माह विशेषः तिरंग फहरा लो- पद्मा मिश्रा, दिनेश गुप्ता (3), मंजु कुमार, यू.ए. ई, विवेक शर्मा, मुंबई, कवि कुलवंत सिंह, अशोक आंद्रे, राजेन्द्र अवस्थी, नीरजा द्विवेदी (2), महेश चन्द्र द्विवेदी (2), शैल अग्रवाल(2)।
वतन से दूरः लेखनी संकलन-देवी नागरानी, यू.एस.ए, सोहन राही, यू.के, स्नेह ठाकुर, कैनेडा (2), रेणु राजवंशी गुप्ता, यू.एस.ए, प्राण शर्मा, यू.के, शैल अग्रवाल यू.के (2) ।
अभिनंदनः तुझ पर है अभिमान-हरिहर झा, आस्ट्रेलिया, अश्विन त्रिपाठी, शबनम शर्मा, शैल अग्रवाल(2)।
कविता धरोहरः सुदामा पाण्डेय धूमिल। गीत और ग़ज़लः अदम गोंडवी। कविता आज और अभीः मोर्चे पर- देश हमाराः चन्द हायकूः सरस्वती माथुर, शैल अग्रवाल।
गद्य मेंः इस मिट्टी में स्वर है-शैल अग्रवाल। मंथनःभारतवर्ष- त्रिलोकी मोहन, विजय सिंह नहाटा। एक पाती-शैल अग्रवाल। प्रवास से-शैल अग्रवाल। राष्ट्रपिता महात्मा गांधी-शैल अग्रवाल। 1857 की जनक्रान्ति और अजीमुल्ला खां- रूपसिंह चन्देल। 30 हजार क्रांतिवीरों की शहादत-अनिता रश्मि। इतिहास की एक उदास ग़ज़ल-रूप सिंह चन्देल। विमर्षः परदेश में देश-शैल अग्रवाल। कहानी विशेषः वह कोई स्वप्न नहीं था-वेद मोहला। कहानी समकालीनः मुमताज- सुरेन्द्र कुमार अरोड़ा। कहानी समकालीनः मुझे द्रौपदी नहीं बनना !-डॉ. इन्दु झुनझुनवाला। कहानी समकालीनः अचानक एक दिन-सुशांत सुप्रिय। कहानी समकालीनः आखेट-शैल अग्रवाल। धारावाहिक काव्या-इन्दु झुनझुनवाला। कबिरा खड़ा बजार में-कौशल किशोर श्रीवास्तव। हास्य व्यंग्यःप्रेम संबंधों में आधुनिक क्रान्ति -संजीव निगम। चांद परियाँ और तितलीः चार बाल गीत-शैल अग्रवाल।
In the English Section: My Column: One Nation, One world. Glorious India. Favourite Forever: Ravindra Nath Tagore. Story Contemporary: Trees in Kew Garden. Kids’ Corner : A story from Panchtantra and A poem-Shail Agrawal.
ब्रिटेन से प्रकाशित द्विमासीय, द्विभाषीय (हिन्दी-अंग्रेजी) पत्रिका
परिकल्पना, संपादन व संचालनः शैल अग्रवाल
संपर्क सूत्रः shailagrawal@hotmail.com
सर्वाधिकार सुरक्षित
copyright @ www.lekhni.net

error: Content is protected !!