लेखनी/Lekhni-जनवरी-फरवरी 20

सोच और संस्कारों की सांझी धरोहर
Bridging The Gap

(मुखपृष्ठ छायांकनःशैल अग्रवाल)

अंक 125/वर्ष 13

भोर-उजेरी लेकर आई
किरन किरन उम्मीदें
हर्ष और उत्कर्ष की
आस भरे संकल्प की
स्वागत तुम्हारा नव वर्ष!

शैल अग्रवाल

अपनी बातः आभासी उजास में हमारे आज और कल…
माह के संकलनः स्वागत नव वर्ष, यह सर्द मौसम। कविता धरोहरः गोपालदास नीरज। गीत और ग़ज़लः जावेद अख्तर। कविता आज और अभीः । माह विशेषः क्या लोकतंत्र को खतरा है-पंकज मिश्र ‘अटल’। माह की कवियत्रीः सरस्वती माथुर।
गद्य मेंः परिचर्चाः आभासी दुनिया- शैल अग्रवाल , इला प्रसाद, शील निगम। मंथनः अमित विषमय- शैल अग्रवाल। मुद्दाः समाज का कोढ़ व्यभिचार- डॉ. कौशल किशोर श्रीवास्तव। विमर्षः धुंध मेंः शैल अग्रवाल। कहानी समकालीनः नन्हे मन का आवास-उर्मिला जैन। कहानी समकालीनः समबडी इज इनसाइड-दिलीप कुमार। कहानी समकालीनः अपराधी-अर्जित मिश्रा। दो लघुकथाएँः शराफत अली खान।व्यंग्य कहानीः डेजी की कमर्शियल आत्मकथा-अशोक गौतम। चांद परियाँ और तितलीः चार बालगीत-प्रभुदयाल श्रीवास्तव।
In The English Section: My Column: Artificial Intelligence Friend or Foe!. Talk About: Forgotten Language-Oshoe. Favourite Forever: Christina Rossetti. Poems Of the Month- . Story Contemporary- Old Slippers-Shail Agrawal. Kids’Corner: Story Robbo & Robby. Poem: by Shail Agrawal.

ब्रिटेन से प्रकाशित द्विमासीय, द्विभाषीय ( हिन्दी-अंग्रेजी ) पत्रिका
परिकल्पना, संपादन व संचालनः शैल अग्रवाल
संपर्क सूत्रः shailagrawal@hotmail.com
सर्वाधिकार सुरक्षित
( copyright @ www.lekhni.net)