About Lekhni
भाषा और भूगोल की सीमाएँ तोड़ती, विश्व के उत्कृष्ट और सारगर्भित ( प्राचीन से अधुधिनिकतम) साहित्य को आपतक पहुंचाती लेखनी द्विभाषीय ( हिन्दी और अंग्रेजी की) मासिक ई. पत्रिका है जो कि इंगलैंड से निकलती है। वैचारिक व सांस्कृतिक धरोहर को संजोती इस पत्रिका का ध्येय एक सी सोच वालों के लिए साझा मंच (सृजन धर्मियों और साहित्य व कला प्रेमियों को प्रेरित करना व जोड़ना) तो है ही, नई पीढ़ी को इस बहुमूल्य निधि से अवगत कराना...रुचि पैदा करना भी है। I am a monthly e zine in hindi and english language published monthly from United Kingdom...A magzine of finest contemporary and classical literature of the world! An attempt to bring all literature and poetry lovers on the one plateform.
No Picture
लेखनी/Lekhni

नहीं रहे उत्कट जीवट के धनी बालशौरि रेड्डी

16/09/2015 0

नहीं रहे उत्कट जीवट के धनी बालशौरि रेड्डी (हिंदी-तेलुगु का एक सुदृढ़ सेतु गिर गया) यह अत्यंत दुखद समाचार है कि तेलुगु और हिंदी के सुप्रसिद्ध साहित्यकार, ‘चंदामामा’ के पूर्व संपादक और बालसाहित्यकार, उत्कट जीवट […]

No Picture
लेखनी/Lekhni

विश्व-हिंदी : मूर्खतापूर्ण बातें:डॉ वेदप्रताप वैदिक

16/09/2015 0

नया इंडिया, 14 सितंबर 2015 विश्व-हिंदी : मूर्खतापूर्ण बातें डॉ वेदप्रताप वैदिक भोपाल में हुए 10 वें विश्व हिंदी सम्मेलन से बहुत आशाएं थीं| विदेशों में होनेवाले विश्व हिंदी सम्मेलनों से इतनी आशा कभी नहीं […]

No Picture
लेखनी/Lekhni

साहित्य का महातीर्थ हिन्दी भवन भोपालःलेखनी जून/ जुलाई15

23/08/2015 0

बाइसवीं पावस व्याख्यानमालाः एक रपट -गोवर्धन यादव   साहित्य का महातीर्थ हिन्दी भवन भोपाल. हिन्दी भवन भोपाल में आयोजित बाईसवीं पावस व्याख्यानमाला में, हिन्दी साहित्य के गौरव कवि प्रदीप एवं डा.शिवमंगल सिंह “सुमन” की जन्मशताब्दी […]

No Picture
लेखनी/Lekhni

“अँखियाँ पानी पानी ” हिन्दी में भक्ति साहित्य की इकलौती कृति

06/07/2015 0

“अँखियाँ पानी पानी ” हिन्दी साहित्य जगत में भक्ति की इकलौती कृति है , ये शब्द थे पूर्व शिक्षा मंत्री एवं इलाहाबाद विश्वविद्यालय के पूर्व प्रोफेसर डा . नरेन्द्र कुमार सिंह गौर के । उन्होंने […]

No Picture
लेखनी/Lekhni

लोकार्पणः’आसमानी आँखों का मौसम ‘

09/05/2015 0

  “दुःख सन्तोष श्रीवास्तव की कहानियों का स्थाई भाव है ।उन्होंने दुःख को जिया है और ज़िन्दगी के कई रंग इनकी कहानियों में शिद्दत के साथ महसूस किये जा सकते हैं ये बातें सूरज प्रकाश […]

No Picture
लेखनी/Lekhni

खुला मंच में साहित्य, शायरी, एवं संगीत की शानदार प्रस्तुति‏

15/12/2014 0

खुला मंच में साहित्य, शायरी, एवं संगीत की शानदार प्रस्तुति………. तुमभी एवं यात्री प्रस्तुत खुला मंच-4 का आयोजन 6 दिसम्बर 2014 को हुआ जिसमें एक से एक बेहतरीन कलाकारों, गायकों, कवियों, कलाकारों एवं संगीतकारों ने […]

No Picture
लेखनी/Lekhni

दिव्या माथुर के उपन्यास ‘शाम भर बातें’ का लोकार्पण

03/12/2014 0

बाएँ से दाएं: भगवान श्रीवास्तव ‘बेदाग़’, नरेश शांडिल्य, दिव्या माथुर, असगर वजाहत, कृष्णदत्त पालीवाल, कमल किशोर गोयनका, अजय नावरिया, लीलाधर मंडलोई, अनिल जोशी, अलका सिन्हा एवं प्रेम जन्मेजय 26 नवंबर, 2014, इंडिया इंटरनेशनल सेंटर एनेक्सी. […]

No Picture
लेखनी/Lekhni

राष्ट्रपति ने मशहूर कवि डॉ. केदारनाथ सिंह को ज्ञानपीठ पुरस्कार से किया सम्मानित _ आज तक से साभार‏

11/11/2014 1

‘ उसका हाथ अपने हाथ में लेते हुए मैंने सोचा, दुनिया को हाथ की तरह गर्म और सुंदर होना चाहिए.‘ ‘हाथ‘ कविता की ये लाइनें लिखने वाले मशहूर कवि डॉ. केदारनाथ सिंह को सोमवार देर […]

No Picture
लेखनी/Lekhni

मैसूर में ”राष्ट्रीय तथा अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर हिंदी भाषा : स्वरूप और संभावनाएँ” विषयक राष्ट्रीय संगोष्ठी संपन्न

11/11/2014 0

मैसूर, 29 अगस्त 2004 हिंदी अध्ययन विभाग, मैसूर विश्वविद्यालय, मानसगंगोत्री, मैसूर में एकदिवसीय राष्ट्रीय संगोष्ठी संपन्न हुई। उक्त संगोष्ठी का विषय ”राष्ट्रीय तथा अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर हिंदी भाषा : स्वरूप और संभावनाएँ” था। उद्घाटन सत्र […]

No Picture
लेखनी/Lekhni

यात्री के ” खुला मंच” में संगीत, नाटक और शायरी का संगम

08/10/2014 0

शनिवार 4 अक्टूबर को मुम्बई के अँधेरी पूर्व स्थित रेलवे कालोनी के हाल में रंग संस्था यात्री थिएटर द्वारा ” खुला मंच” कार्यक्रम का आयोजन किया गया। इस बार खुला मंच की खासियत यह रही […]

1 8 9 10 11