लेखनी/Lekhni-मई-जून 17

सोच और संस्कारों की सांझी धरोहर
लेखनी/Lekhni
( Bridging the Gap)

” अपहरण आक्रमण अत्याचार
या फिर फूलों के शस्त्र और
बस प्यार ही प्यार
किसने कहा कि सब नेक है
युद्ध और प्यार में
प्यार में संयम और युद्ध में नियम
वरना आखेटी मन के हैं शिकार
दोनों ही युद्ध और प्यार…”
– शैल अग्रवाल

प्रेम और युद्ध में
(Love And War)

इस अंक मेंः अपनी बात। कविता धरोहरः अयप्प पणिकर मलयालम से अनुवाद रति सक्सेना, त्रिलोचन। गीत और ग़ज़लः फैज अहमद फैज। माह के कविः अतुल कनक। माह विशेषः कुछ कविताएँ- शैल अग्रवाल। कविता आज और अभीःसुशांत सुप्रिय,बृजेश श्रीवास्तव उत्कर्ष, ध्रुव सिंह एकलव्य, दीपक मशाल, शील निगम, मुरलीधर वैष्णव । मंथनः युद्ध और प्रेम में-शैल अग्रवाल। कहानी समकालीनः एक गुम सी चोट-सुशांत सुप्रिय। कहानी समकालीनः मौसम उपसंहार-अशोक गुप्ता। कहानी समकालीनः पन्नों पर जिन्दगी- सपना मांगलिक। कहानी समकालीनःःखेल-खेल में-शैल अग्रवाल। परिचर्चाः विस्थापन का दर्द-शिबन कृष्ण रैना। पर्यटनः चित्तौड़गढ़- गोवर्धन यादव। पढते पढ़ते- शैल अग्रवाल। पुस्तक समीक्षा-शहंशाह आलम, अख्तर अली। चांदपरियाँ और तितलीः बाल कहानी-पौधों की करामात, बाल कविता-पानी बनकर आऊँ-प्रभु दयाल श्रीवास्तव ।

In the English Section: My Column. Favourite Forever: Love and War-Ovid, translation from latin by Jon Corelis. Poet of the month- Rainer Maria Rilke. A German War Primer: Bertolt Brecht. Poetry Here & Now: Binu Bhatnagar, Shail Agrawal. Kids’Corner: Power-Game- Shail Agrawal.
ुच