About Lekhni
भाषा और भूगोल की सीमाएँ तोड़ती, विश्व के उत्कृष्ट और सारगर्भित ( प्राचीन से अधुधिनिकतम) साहित्य को आपतक पहुंचाती लेखनी द्विभाषीय ( हिन्दी और अंग्रेजी की) मासिक ई. पत्रिका है जो कि इंगलैंड से निकलती है। वैचारिक व सांस्कृतिक धरोहर को संजोती इस पत्रिका का ध्येय एक सी सोच वालों के लिए साझा मंच (सृजन धर्मियों और साहित्य व कला प्रेमियों को प्रेरित करना व जोड़ना) तो है ही, नई पीढ़ी को इस बहुमूल्य निधि से अवगत कराना...रुचि पैदा करना भी है। I am a monthly e zine in hindi and english language published monthly from United Kingdom...A magzine of finest contemporary and classical literature of the world! An attempt to bring all literature and poetry lovers on the one plateform.
No Picture
लेखनी/Lekhni

क्या ममता हार मान चुकी है

20/05/2019 0

क्या ममता हार मान चुकी है? आज़ाद भारत के इतिहास में शायद पहली बार चुनावी हिंसा के कारण देश के एक राज्य में चुनाव प्रचार को 20 घंटे पहले ही समाप्त करने का आदेश चुनाव […]

No Picture
लेखनी/Lekhni

विनम्र श्रद्धांजलिः रमणिका गुप्ता

27/03/2019 0

दलित और आदिवासी हों या फिर शोषित नारी, हर उपेक्षित के लिए युद्धरत् रमणिका गुप्ता जी का कल 26 मार्च 2019 को दिल्ली के मूलचन्द अस्पताल में निधन हो गया, वे 89 वर्ष की थीं। […]

No Picture
लेखनी/Lekhni

कल तक वो रीना थी लेकिन आज “रेहाना” हैः नीलम महेन्द्र

27/03/2019 0

दिन की शुरुआत अखबार में छपी खबरों से करना आज लगभग हर व्यक्ति की दिनचर्या का हिस्सा है। लेकिन कुछ खबरें सोचने के लिए मजबूर कर जाती हैं कि क्या आज के इस तथाकथित सभ्य […]

No Picture
लेखनी/Lekhni

नए भारत का आगाज़ः डॉ. नीलम महेन्द्र

23/02/2019 0

यह सेना की बहुत बड़ी सफलता है कि उसने पुलवामा हमले के मास्टरमाइंड अब्दुल रशीद गाज़ी को आखिरकार मार गिराया हालांकि इस ऑपरेशन में एक मेजर समेत हमारे चार जांबांज सिपाही वीरगति को प्राप्त हुए। […]

No Picture
लेखनी/Lekhni

हिंदी के प्रमुख कवि, आलोचक, अनुवादक एवं पत्रकार विष्णु खरे नहीं रहे….विनम्र श्रद्धांजलि….शतशः नमन….

20/09/2018 0

साल की उम्र में दिल्ली के एक अस्पताल में उन्होंने बुधवार 19 सितंबर को आखिरी साँस ली. ब्रेन हैमरेज के बाद वे एक सप्ताह से अस्पताल में नाजुक हालत में भर्ती थे. बतौर पत्रकार के […]

No Picture
लेखनी/Lekhni

शिमला से एक साहित्यिक रिपोर्ट

19/09/2018 0

ग्रामीण समाज और विद्यार्थियों के बीच लेखकीय सरोकार की अनूठी यात्राएंः यादगार रहेंगे अनपढ़ इंजिनीयर बाबा भलखू स्मृति के बहाने सफल साहित्यिक रेल और ग्रामीण आयोजन बाबा भलखू हिमाचल के विश्वविख्यात पर्यटन स्थल चायल स्थित […]

No Picture
लेखनी/Lekhni

मारीशस में रामकथा पर अंतरराष्ट्रीय संगोष्ठियाँ और सम्मान समारोह संपन्नःमुंबई।(प्रेस विज्ञप्ति)। 2 सितंबर,2018।

17/09/2018 1

भारत और मारीशस का संबंध दुनिया के किन्हीं अन्य दो देशों से बिलकुल अलग किस्म का है। मारीशस अपनी पहचान और इतिहास की जड़ें खोजने के लिए भारत की ओर देखता है। हिंदी भाषा और […]

No Picture
लेखनी/Lekhni

देश विरोधी विचार रखने वालों के समर्थन में यह कौन लोग है? डॉ. नीलम महेन्द्र

17/09/2018 0

भारत शुरू से ही एक उदार प्रकृति का देश रहा है, सहनशीलता इसकी पहचान रही है और आत्म चिंतन इसका स्वभाव। लेकिन जब किसी देश में उसकी उदार प्रकृति का ही सहारा लेकर उसमें विकृति […]

No Picture
लेखनी/Lekhni

अमर उजाला शब्द सम्मान-2018 की घोषणाः नामवर सिंह और ‌गिरीश कारनाड को आकाशदीप

17/09/2018 0

अपने लेखन-जीवन के समग्र अवदान के लिए इस वर्ष का सर्वोच्च शब्द सम्मान ‘आकाशदीप’ – हिंदी में प्रख्यात आलोचक डॉ. नामवर सिंह और हिन्दीतर भाषाओं में विख्यात कलाकर्मी-चिंतक गिरीश कारनाड को दिया जाएगा। सम्मान में […]

1 2 3 8