माह विशेष

No Picture
लेखनी/Lekhni

शोक समाचारः बालसाहित्यकार प्रेम स्वरूप श्रीवास्तव का निधन

01/08/2016 0

वयोवृद्ध साहित्यकार प्रेम स्वरूप श्रीवास्तव का लम्बी बीमारी के बाद 31 जुलाई, 2016 को लखनऊ में निधन हो गया। वे 86 वर्ष की उम्र के थे और पिछले काफी समय से अस्वस्थ चल रहे थे। […]

No Picture
लेखनी/Lekhni

दक्षिण भारत के हिंदी शोध की बानगी : ‘संकल्पना’

30/06/2016 0

हिंदी के क्षेत्रीय और भौगोलिक लक्ष्मण रेखाओं का अतिक्रमण करके सार्वदेशिक अखिल भारतीय भाषा बनने का एक सुखद परिणाम यह सामने आया है कि हिंदीतर भाषी कहे जाने वाले क्षेत्रों में स्थित उच्च शिक्षा संस्थानों […]

No Picture
लेखनी/Lekhni

विनम्र श्रद्धांजलि

13/06/2016 0

लखनऊ। चर्चित साहित्यकार मुद्राराक्षस का सोमवार को ( 13 जून) लंबी बीमारी के बाद निधन हो गया। वह 82 वर्ष के थे। सोमवार को दिन में उनकी तबीयत ज्यादा खराब हो गई थी। उनके बेटे […]

No Picture
लेखनी/Lekhni

अमरावती सृजन-पुरस्कार एवं सम्मान समारोह, सिलीगुड़ी -2015‏

11/03/2016 0

हिंदी के प्रख्यात लेखक, पत्रकार शैलेंद्र चौहान को ”अमरावती सृजन पुरस्कार’’-2015 तथा समाज सेवी रतिराम शर्मा एवं आर.के. गोयल को ”अमरावती-रघुवीर सामाजिक-सांस्कृतिक उन्नयन सम्मान’’ सिलीगुड़ी से प्रकाशित पूर्वोत्तर भारत की एकमात्र चर्चित हिंदी मासिक पत्रिका […]

No Picture
लेखनी/Lekhni

‘अनुप्रयुक्त भाषाविज्ञान की व्यावहारिक परख’ का लोकार्पण संपन्न

25/02/2016 0

‘अनुप्रयुक्त भाषाविज्ञान की व्यावहारिक परख’ का लोकार्पण संपन्न हैदराबाद, 20 फरवरी 2016. (प्रेस विज्ञप्ति). ‘’अनुप्रयुक्त भाषाविज्ञान की चर्चा पश्चिम में 1920 ई. के आसपास तब शुरू हुई जब एक देश के सैनिकों को शत्रु देश […]

No Picture
लेखनी/Lekhni

ऋषभदेव शर्मा की पुस्तकों का लोकार्पण संपन्न

15/11/2015 0

हैदराबाद, 14 अक्टूबर, 2015 साहित्यिक-सांस्कृतिक संस्था ‘साहित्य मंथन’ के तत्वावधान में खैरताबाद स्थित दक्षिण भारत हिंदी प्रचार सभा के सम्मलेन कक्ष में महात्मा गांधी अंतरराष्ट्रीय हिंदी विश्वविद्यालय, वर्धा से पधारे प्रो. देवराज की अध्यक्षता में […]

No Picture
लेखनी/Lekhni

वैश्विक हिन्दी सम्मेलन की दस्तक बरमिंघम में

15/11/2015 0

‘११ अक्तूबर २०१५ ‘इंग्लॅण्ड’ में ‘बर्मिंघम’ शहर के ‘गीता भवन’ में श्रीमती शैल अग्रवाल जी की इ पत्रिका ‘लेखनी’  का ‘लेखनी सानिध्य ‘ का वार्षिक कार्यक्रम आयोजित किया गया जहाँ  ब्रिटेन के गणमान्य साहित्य-प्रेमी उपस्थित […]

No Picture
लेखनी/Lekhni

साहित्य अकादमी कितनी स्वायत्त, कितनी सरकारी

22/10/2015 3

साहित्य जगत के, मेरे कुछ वरिष्ठ जन यह भूल रहे हैं कि आज से 61 वर्ष पूर्व जिस साहित्य अकादमी की स्थापना ही केन्द्रीय सरकार द्वारा की गई और इतना ही नहीं, उसका सारा विधान […]

No Picture
लेखनी/Lekhni

हिन्दी को लेकर न तो शोक सभा की जरूरत है , न कोप भवन में जाकर बैठने कीःडॉ. वर्तिका नन्दा

16/09/2015 0

हिंदी सांस में है, पानी में, पहाड़ में, खेत में, सेल्फी में, शहर में, देहात में। इसलिए जाहिर है कि हिंदी की धमक मीडिया में भी है। 90 के दशक में जब निजी मीडिया भारत […]

No Picture
लेखनी/Lekhni

नहीं रहे उत्कट जीवट के धनी बालशौरि रेड्डी

16/09/2015 0

नहीं रहे उत्कट जीवट के धनी बालशौरि रेड्डी (हिंदी-तेलुगु का एक सुदृढ़ सेतु गिर गया) यह अत्यंत दुखद समाचार है कि तेलुगु और हिंदी के सुप्रसिद्ध साहित्यकार, ‘चंदामामा’ के पूर्व संपादक और बालसाहित्यकार, उत्कट जीवट […]

1 5 6 7 8 9