लेखनी/Lekhni- मार्च अप्रैल 17

सोच और संस्कारों की सांझी धरोहर
Bridging The Gap

march-april 17
ख्वावों की झोली बीच हकीकत
जैसे तारों बीच चंद्रमा आधा अधूरा
पूरा होने को बेचैन चमके-दमके
पूरा होते ही घट फिर खाली
हुलस-हुलस बीने जादूगर ने
जाने कितने उलझे सपने
शैल अग्रवालॉ
( अंक 108, वर्ष 11)