दो लघुकथाएँ-आलोक सातपुतेः लेखनी जनवरी/फरवरी 16

पाप

laghukatha logoमध्यरात्रि एक ट्रक ड्राइवर स्पीड से ट्रक चला रहा था। नज़दीक किनारे बायीं ओर उसे एक सायकल सवार जाता हुआ दिखा । अचानक उसके समक्ष एक गाय आ गयी। उसने गाय को बचाने के लिऐ अपनी बायीं ओर कट मारा। सायकल सवार अब ट्रक की चपेट में आ गया। ट्रक ड्राइवर ने मन ही मन ईश्वर को धन्यवाद दिया कि आज वह गो-हत्या के पाप से बच गया।

भविष्य

laghukatha logoउस धर्मनिरपेक्ष देश में बहुत सी सेनाएं थीं। हिन्दुओं ने भगवानों के नाम से बहुत सारी सेनाएं बना रखी थीं । मुसलमानों की भी एक हुसैनी सेना थी, तो ईसाइयों ने भी मसीही सेना बना रखी थी। उधर सिखों ने भी नानक सेना बना रखी थी।
उस देश पर जितने भी आक्रमण हुए उसमे वह देश हारता गया, क्योंकि उस देश में सेनाएं तो कई थीं, पर सैनिक एक भी नहीं था।

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*