लेखनी/Lekhni मई-जून 16

सोच और संस्कारों की सांझी धरोहर

Bridging The
May june 16

आधा चाँद मांगता है पूरी रात
पूरी रात के लिए मचलता है
आधा समुद्र
आधे चाँद को मिलती है पूरी रात…
आधी पृथ्वी की पूरी रात
आधी पृथ्वी के हिस्से में आता है
पूरा सूर्य
-नरेश सक्सेना

वर्ष 10 अंक 102
Year10 Issue 102

अपनी बात । कविता धरोहरःजयशंकर प्रसाद । कविता विशेषः समुद्र मुद्राः अज्ञेय।। गीत और ग़ज़लः कुंवर बेचैन, सोहन राही।। समंदर के साथः शैल अग्रवाल। कविता आज और अभीः जतिंदर परवाज़, शिखा वाष्णेय शील निगम,श्यामल सुमन। हायकूः समंदरः सरस्वती माथुर, शैल अग्रवाल। काव्य मंथनः सुशील शर्मा ।
समंदर चन्द शब्द चित्रः शैल अग्रवाल । खुला पत्रः राजी सेठ- देवी नागरानी।। ओ समंदरः अमित बृज। कहानी समकालीनः समंदर देवा-लावण्या शाह । कहानी समकालीनः रेत के घरौंदे-गोवर्धन यादव । कहानी समकालीनः खारा समंदरः शैल अग्रवाल। उपन्यास अंशः कोहरा- इला प्रसाद । दो लघुकथाएँः शबनम शर्मा । ललितः बस थोड़ा और-मनीषा परिहार। । चाँद परियाँ और तितलीः बाल कहानी- समय और बाल कविता-समंदरः शैल अग्रवाल।
In the English Section: My Column-Shail Agrawal. Talk About: Sea-Kahlil Zibran. Favourite Forever: Alfred Lord Tennyson.Poetry Here & Now: . Long Story Asylum in four parts- Katharine Jackson. Kids’Corner: Fascinating Creatures of the Sea: Shail Agrawal.